प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत अभियान को साकार करने का जिम्मा उठाया वेस्टीज ने

नई दिल्ली :वेस्टीज मार्केटिंग प्रा। लिमिटेड, भारत की प्रमुख प्रत्यक्ष बिक्री कंपनी, 2 करोड़ से अधिक वितरकों को स्वच्छता, स्वास्थ्य और वैलनेस उत्पादों को प्रदान करने के 16 साल का जश्न मना रही है।

अपनी 16 वीं वर्षगांठ के समारोह में, वेस्टीज ने 'पीएम के हमारे भीतर क्षमता है ' अभियान की शुरुआत की, जिसमें माननीय पीएम के आत्म निर्भारता ’(आत्मनिर्भरता) के दृष्टिकोण का समर्थन किया गया। 16 वीं वर्षगांठ को पर वेस्टीज का पूरा धयान इस बात पर है कि कैसे डायरेक्ट सेलिंग उद्योग लोगों के लिए आजीविका पैदा कर सकता है और उन्हें आर्थिक स्वतंत्रता प्रदान करके COVID- 19 संकट को दूर करने में मदद कर सकता है।

अपने इस अभियान पर टिप्पणी करते हुए, श्री गौतम बाली, एमडी, वेस्टीज मार्केटिंग प्रा. लिमिटेड ने कहा, “वर्षों से हमारी सफलता लोगों को आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनने के लिए एक इको-सिस्टम बनाने पर जोर देने और उनके उद्यमी सपनों को आगे बढ़ाने और आंत्रप्रेन्योर बनने में मदद करने का परिणाम है।

हमारे वितरकों ने अपनी वेस्टीज की स्थापना के बाद से वेस्टीज पर विश्वास किया है और संस्था के निर्माण में उनका समर्थन अभूतपूर्व है। इस यात्रा में, 16 वीं वर्षगांठ दो कारणों से बहुत खास हो गई है। सबसे पहले, वेस्टीज को वर्ल्ड डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों की शीर्ष 30 सूची में मान्यता दी गई है। दूसरे, हमारी आर्थिक स्वतंत्रता का मॉडल माननीय प्रधान मंत्री, श्री नरेंद्र मोदी द्वारा वोकल फॉर लोकल और आत्मनिर्भर भारत में उनके आह्वान के अनुरूप है। ”

इस अवसर पर वेस्टीज कंपनी के प्लान में भी बदलाव किया गया ताकि करोडो डिस्ट्रीब्यूटर को फायदा और ज्यादा मिल सके और साथ ही कंपनी ने घाना में भी अपने व्यापार की शुरुवात कर दी है

इस बारे में वेस्टीज के UCD डॉक्टर आर बी गुप्ता ने बताया की अब हमें विश्वाश है की प्रधानमत्री के आह्वाहन पर ज्यादा से ज्यादा लोग वेस्टीज के साथ जुड़ने में गर्व महसूस करंगे रेखा वैष्णव जो की कंपनी में ब्रोंज डायरेक्टर है ने अजेयभारत को बताया की जब हम लोगो से बात करते थे वेस्टीज के प्रोडक्ट्स यूज़ करने की तो वो कहते थे की ये लोकल है लेकिन आज वेस्टीज ग्लोबली होकर के अपने उत्पादों को विश्व में फैला रही है और करोडो लोगो को प्रत्यक्ष रूप से आत्मनिर्भर भी बना रही है अब भारत के लोगो का समय है की हमें लोकल का वोकल बनकर विदेशी उत्पादों के मकड़जाल से बाहर निकलना होगा और भारत को फिर से विश्वशक्ति बनाना होगा 

Post a Comment

0 Comments