क्या गलत मुहूर्त में मोदी के शपथ ग्रहण करने के कारण आज भारत की ये दशा है?


वर्तमान संक्रमण काल में भारत के आर्थिक स्थिति युद्ध अथवा गए युद्ध की ज्योतिषी आशंका पर नक्षत्र लोक ज्योतिष विज्ञान शोध संस्थान द्वारा एक वेबीनार का आयोजन किया गया जिसमें भारत के प्रमुख ज्योतिर्विदों ने अपने विचार व्यक्त किए।

सर्वश्री रमेश भोजराज द्विवेदी ने अपने वक्तव्य में कहा कि शनि का स्वयं की राशि मकर तथा कुंभ में भ्रमण काल सन 2025 तक आर्थिक और प्राकृतिक रूप से संघर्ष का रहेगा

हरिद्वार से श्री रमेश जी सेमवाल में अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि संस्कारों से मुक्ता के कारण मानव जीवन में संकट एवं संघर्ष की वृद्धि होकर उन्हें कष्टों का सामना करना पड़ता है इसके लिए उन्हें धर्म ग्रंथों का चिंतन व मनन करने के साथ माता पिता का सम्मान करना आवश्यक है जयपुर से डॉक्टर श्री रवि शर्मा ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि महामारी व टिड्डी दल के आक्रमण की भविष्यवाणी पंचांग को में पहले ही दिशा दी जा चुकी है संवत वर्षेश के साथ ग्रहों के अपने अपने मंत्रिमंडल के अनुसार उनके प्रभावों की श्री शर्मा ने व्याख्या की ।

जयपुर की ज्योतिषी शालीनी सालेचा ने अंक गणित के आधार पर 2020 को राहु का वर्ष निरूपित करते हुए महामारी उसके कारण जनपीडा पर अपने विचार व्यक्त किए।

जैमिनी ज्योतिष के ज्ञाता श्री राकेश सोनी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि सितंबर के बाद बीमारी में कमी आने व इसकी औषधि मिलने की संभावनाएं अधिक रहेगी तथा जनसामान्य को राहत मिलेगी।
 नक्षत्र नाड़ीका के संपादक श्री विनायक पुलह ने अपने विचार व्यक्त करते हुए मोदी जी के शपथ ग्रहण काल को भय मुहूर्त में लेने के कारण उनका कार्यकाल संघर्ष में निरूपित किया तथा यह कहा कि उन्हें एक के बाद दूसरे अनपेक्षित संघर्षों का सामना करना पड़ेगा आगामी जुलाई माह के आसपास वर गया संप्रदाय संघर्ष की संभावना भी उन्होंने व्यक्त की।

सर्व ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं ज्योतिषीश्री शुभेष शर्मन ने अपने विचार व्यक्त करते हुए वर्षेश बुध का आर्द्रा  नक्षत्र में प्रवेश होने के साथ ही जनता का घर से बाहर निकलना आरंभ हो गया यह बताते हुए उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे इसका अंत में वृद्धि होगी वैसे वैसे स्थिति सामान्य होकर भारत की आर्थिक स्थिति भी सुंदरता की ओर बढ़ेगी तथा जनता में अपने शासक के प्रति विश्वास भी बढ़ेगा।भारत विश्व मे नए आयाम प्राप्त करेगा विश्व का नेतृत्व करेगा

कृष्णमूर्ति पद्धति के आधार पर अपने विचार रखते हुए श्री के के ओझा ने कहा कि दीपावली के आसपास पीली  धातु अर्थात सोने में बड़े उठापटक के योग बनेंगे वहीं आगामी समय में ग्राम स्वराज रोजगार की संभावनाएं अधिक बढ़ते हुए गांव का महत्व स्थापित होगा।

नक्षत्र लोक ज्योति विज्ञान शोध संस्थान के पंडित अभिषेक जोशी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा ज्योतिषी गणना के आधार पर आगामी 18 जून 2020 से 15 अगस्त 2020 तक का समय भारत के लिए विशेष सावधानी का रहेगा इस समयावधि में किसी प्रकार के धार्मिक उन्माद की स्थिति बनेगी साथ ही निम्न वर्गों द्वारा चोरी लूटपाट की घटनाओं में वृद्धि होगी किंतु प्रशासनिक तत्परता से शीघ्र ही इन पर नियंत्रण भी होगा स्वतंत्र भारत के वर्षफल की कुंडली 14 अगस्त 2020 17:09 के अनुसार धनु लग्न की कुंडली के आधार पर भारत में औद्योगिक निवेश में वृद्धि होने से बेरोजगारी में कमी आएगी यद्यपि आर्थिक उठापटक चलेगी लेकिन भारत अपने आपको इसमें संभाल लेगा आगामी आषाढ़ मास से लेकर माघ मास तक का समय प्राकृतिक आपदा का होकर हरियाणा हिमाचल उत्तराखंड के लिए विशेष सावधानी का रहेगा इन सभी संघर्षों के साथ भारत के यशस्वी  प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के निर्णय देश हित में ले जा कर विश्व पटल पर भारत का गौरव बढ़ता रहेगा।

Post a Comment

0 Comments