मनरेगा की मजदूरी के लिए मजदूरों का हमला बोल


प्रदीप सैनी, दांता
मनरेगा की मजदूरी के लिए मजदूरों का हमला बोल
दांतारामगढ़ (सीकर)। मनरेगा मजदूरों की पूरी मजदूरी की मांग अब उग्र होती जा रही है। मंगलवार को दूसरे दिन भी सैकड़ों की संख्या में मनरेगा मजदूरों ने दांता ग्राम पंचायत के सामने विरोध प्रदर्शन कर प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उबलती गर्मी में तीन घंटे प्रदर्शन कर मजदूरों ने माकपा नेताओं की अगुआई में बाजार में विरोध रैली निकालकर भी आक्रोश जताया। बाद में एसडीएम कार्यालय पहुंचकर एसडीएम अशोक कुमार रणवां को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मजदूरों ने काम के बदले पूरी मजदूरी दिलाने की मांग की। चेतावनी भी दी कि  पूरा पैसा नहीं मिला तो बुधवार से एसडीएम कार्यालय के सामने धरना दिया जाएगा। इस दौरान कॉमरेड इंद्र सिंह लांबा, कॉमरेड हरफूल सिंह बाज्या, कॉमरेड चेन सिंह, कॉमरेड घनश्याम सांखला सहित कई मजदूर मौजूद रहे।

*माकपा का प्रत्येक कार्यकर्ता मजदूरों के साथ*

पूर्व विधायक कॉमरेड अमराराम ने बताया कि मनरेगा श्रमिकों के कड़ी धूप में काम करने के बाद भी पूरी मजदूरी नहीं मिलना बहुत ही शर्मनाक बात है। उन्होंने कहा कि मनरेगा श्रमिकों के साथ में लॉकडाउन में सरकार व अधिकाधी जैसा बर्ताव कर रहे है, उससे साफ है कि वह गरीब- मजदूर विरोधी है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों से ज्यादा दोषी सरकार खुद है, जो संकट की घड़ी में साथ देने की बजाय मजदूरों की मजदूरी पर ध्यान नहीं दे पा रही। माकपा नेता ने कहा कि माकपा पार्टी का हर कार्यकर्ता मजदूरों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर न्याय दिलाने के लिए मजदूरों के साथ खड़ा है। आवश्यकता पड़ी तो आंदोलन को जिला व प्रदेश स्तर तक भी ले जाया जायेगा।

Post a Comment

0 Comments