नागरिकों के सहयोग से स्वच्छ सर्वेक्षण में किया जाएगा 62 से नंबर-1 का सफर तय

 नागरिकों के सहयोग से स्वच्छ सर्वेक्षण में किया जाएगा 62 से नंबर-1 का सफर तय



-    नगर निगम गुरूग्राम के संयुक्त आयुक्त(स्वच्छ भारत मिशन) धीरज कुमार
     ने बैठक करके संबंधित अधिकारियों को स्वच्छता बारे दिए आवश्यक
     दिशा-निर्देश
-    गुरूग्राम के नागरिक प्राथमिक स्तर पर कचरे को अलग करने, होम
     कंपोस्टिंग तथा अपने आसपास सफाई व्यवस्था का ध्यान रखकर करें
     स्वच्छता में सहयोग


गुरूग्राम, 26 नवम्बर। नगर निगम गुरूग्राम के संयुक्त आयुक्त (स्वच्छ भारत मिशन) धीरज कुमार ने नगर निगम गुरूग्राम की स्वच्छता शाखा के अधिकारियों के साथ एक विशेष बैठक की तथा स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 के बारे में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

    उन्होंने कहा कि नगर निगम गुरूग्राम इस बार नागरिकों के सहयोग एवं समर्थन से स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 में 62 से नंबर-1 का सफर तय करेगा। उन्होंने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 में गुरूग्राम को स्वच्छता रैंकिंग में 62वां स्थान प्राप्त हुआ था। स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 में नगर निगम गुरूग्राम का उद्देश्य देश में नंबर-1 स्वच्छता रैंकिंग प्राप्त करना है, जो गुरूग्राम के नागरिकों के सहयोग एवं समर्थन से प्राप्त किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गुरूग्राम के नागरिक प्राथमिक स्तर पर कचरे को अलग-अलग करके, होम कंपोस्टिंग करके तथा अपने आसपास के क्षेत्र में सफाई व्यवस्था का ध्यान रखकर स्वच्छता में अपना योगदान दें। उन्होंने कहा कि नगर निगम गुरूग्राम द्वारा नागरिकों को कचरा अलगाव के प्रति जागरूक एवं प्रेरित करने के उद्देश्य से थ्री-बिन सेल्फी ड्राईव की भी शुरूआत की गई है, जिसमें 20 बेहतरीन सेल्फी को पुरस्कार देने के साथ ही ड्राईव में भागीदारी करने वाले प्रत्येक नागरिक को प्रमाण-पत्र भी जारी किया जाएगा। उन्होंने नागरिकों से आह्वान किया कि वे अपने यहां तीन डस्टबिन रखें तथा हरे रंग के डस्टबिन में गीला कचरा, नीले रंग के डस्टबिन में सूखा कचरा तथा पीले रंग के डस्टबिन में घरेलू हानिकारक व मैडीकल वेस्ट अलग-अलग रखें। नगर निगम गुरूग्राम द्वारा संचालित डोर-टू-डोर वेस्ट कलैक्शन गाड़ी में इस कचरे को अलग-अलग की डालें।

    संयुक्त आयुक्त ने जीरो वेस्ट नीति को अपनाने पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि जब हम गीला-सूखा व घरेलू हानिकारक कचरा अलग-अलग रखेंगे तो इस कचरे का निस्तारण भी सही ढ़ंग से हो पाएगा। गीले कचरे से होम कंपोस्टिंग करें तथा इससे तैयार होने वाली खाद का इस्तेमाल बागवानी के लिए किया जाए। सूखा कचरा रिसाइकिल हो जाएगा तथा घरेलू हानिकारक एवं मैडीकल वेस्ट अधिकृत कचरा रिसाइकलर के पास चला जाएगा। इस प्रकार हम लैंडफिल साईट पर कम से कम कचरा भेजना सुनिश्चित करने में सहयोग करेंगे। उन्होंने स्वच्छता शाखा के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे शहर की सफाई व्यवस्था को और अधिक बेहतर करवाएं।

Post a Comment

0 Comments