राधा रानी ब्रज यात्रा का राजस्थान में प्रवेश ।

 राधा रानी ब्रज यात्रा का राजस्थान में प्रवेश ।

अजय विद्यार्थी 

डीग > डीग श्री मान मंदिर सेवा संस्थान बरसाना के विरक्त संत रमेश बाबा के नेतृत्व में 25 अक्टूबर से प्रारंभ हुई श्री राधा रानी ब्रज यात्रा 

 ने आज पच्चीस वें दिन बृज के राजस्थान क्षेत्र में प्रवेश कर डीग में विश्राम के लिये रुकी। 

गोवर्धन में विश्राम कर  गोविंद कुंड से  निकली यात्रा ने पूंछरी में पूंछरी के लौठा के दर्शन कर श्याम ढाक जैसी अतिरमणीय ऐतहासिक स्थली के दर्शन से कृतार्थ हुई।

 जहाॅ आज भी पुरातन कदम्ब वृक्षों में स्वाभाविक प्राकृतिक रूप से बने दोने देखने को मिलते हैं।

 इसी संदर्भ में कहावत है कि *"श्याम ढाक के दोना दही खायलै श्याम सलोना"।*

 बाद में यात्रा में शामिल श्रृदालुओं ने



सामई खेड़ा जिसे सूर्य पतन वन भी कहा जाता है; होते हुए ऊमरा में प्रवेश किया । यात्रा में शामिल भक्त ग्रामवासियों के प्रेम से आप्लावित होकर  अति प्रसन्न हुऐ  । विश्राम के दौरान यहां सभी यात्रियों को ग्रामवासियों द्वारा भोजन भी कराया गया।



 परिक्रमा मार्ग में स्थित गांव गांव में स्वागत सत्कार से आनंदित यात्रियों ने कहा कि ब्रजवासियों जैसा उदार कोई नहीं।                   बाबा के उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए हर गांव में मान मंदिर सेवा संस्थान के कार्य कारी अध्य्क्ष राधाकांत शास्त्री ने ब्रज के सांस्कृतिक स्वरूप की रक्षा व भगवन्नाम सेवन का अनुरोध किया। साथ ही यह भी चिंता व्यक्त की कि भरतपुर जिला प्रशाशन ब्रज क्षेत्र में खनन गतिविधि को बढ़ावा देकर ब्रज के ऐतहासिक पौणाणिक व दिव्य स्वरूप के विनाश की भूमिका निभा रहा है । तथा ब्रज वसुंधरा में नए नए क्रेशरों की परमीशन जारी की जा रही है। 

उन्होंने कहा कि कोंग्रेस  आलाकमान से हस्तक्षेप करने को लेकर शीघ्र ही एक प्रतिनिधि मंडल उनसे मिलेगा।

 कल यात्रा जड़खोर विश्राम करेगी।

Post a Comment

0 Comments