मेयर मधु आजाद की अध्यक्षता में हुई पार्षदों एवं अधिकारियों की विशेष बैठक

 मेयर मधु आजाद की अध्यक्षता में हुई पार्षदों एवं अधिकारियों की विशेष बैठक



-    बैठक में जोन-1 तथा जोन-3 क्षेत्र के निगम पार्षद एवं अधिकारीगण हुए
     उपस्थित
-    निगम पार्षदों ने अपने-अपने वार्ड से संबंधित समस्याओं एवं कार्यों के बारे
     में बैठक में की चर्चा
-    सीवरेज, स्ट्रीट लाईट, अतिक्रमण, सामुदायिक केन्द्रों पर अवैध कब्जों            सहित अन्य बिन्दुओं को बैठक में रखा गया
-    मेयर के अधीन अधीक्षक अभियंता स्तर के अधिकारी की ओएसडी के तौर
     पर नियुक्ति तथा क्वांटिटी सर्वे विंग का गठन करने का दिया गया सुझाव


गुरूग्राम, 9 दिसम्बर। गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद की अध्यक्षता में बुधवार को निगम कार्यालय में जोन-1 तथा जोन-3 क्षेत्र के निगम पार्षदों एवं अधिकारियों की एक विशेष बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में निगम पार्षदों ने अपने-अपने वार्ड से संबंधित समस्याओं तथा लंबित कार्यों के बारे में अधिकारियों के साथ चर्चा की। मेयर ने मौके पर ही अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे पार्षदों द्वारा बताए जा रहे कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर करवाना सुनिश्चित करें।
    बैठक में मेयर मधु आजाद ने अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि अगर कोई अधिकारी अपने कार्य में लापरवाही बरतता है या बिना वजह विभिन्न वार्डों में विकास कार्यों को लंबित रखता है, तो उसका नाम हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को लिखित में कार्रवाई हेतु भेजा जाएगा। यह बात मुख्यमंत्री द्वारा भी गत दिवस मुलाकात के दौरान मेयर एवं निगम पार्षदों को कही गई थी। उन्होंने कहा कि अधिकारी यहां कार्य करने ही आए हैं, अगर कोई अधिकारी कार्य नहीं करेगा, तो उसके खिलाफ कार्रवाई हेतु मुख्यमंत्री को अवगत करवाया जाएगा। मेयर ने कहा कि छोटे-छोटे मुद्दों को लेकर निगम पार्षदों को परेशानी नहीं होनी चाहिए तथा वार्डों में होने वाले कार्यों की फाईलों को बिना वजह लंबित ना रखें। अधिकारी यह समझ लें कि वे जनता का कार्य करने ही यहां पर आए हैं।
    बैठक में नगर निगम पार्षद आरएस राठी ने सुझाव दिया कि मेयर कार्यालय में अधीक्षक अभियंता स्तर के अधिकारी को ओएसडी के तौर पर नियुक्त किया जाए। यह अधिकारी इंजीनियरिंग ब्रांच से संबंधित कार्यों के बारे में जवाब-तलब करने में सक्षम होगा। उन्होंने एक क्वांटिटी सर्वे विंग का गठन करने का भी सुझाव बैठक में दिया। यह विंग सीधे मेयर को अपनी रिपोर्ट भेजे। इसके अलावा, फाईलों की समयसीमा निर्धारित की जानी चाहिए। बैठक में निगम पार्षद अश्विनी शर्मा ने नगर निगम आपके द्वार कार्यक्रम को पुन: शुरू करने का सुझाव दिया।
    बैठक में निगम पार्षदों ने उनके वार्डों में सीवरेज की सफाई करवाने, सीवरमैनों की संख्या बढ़ाने, अतिक्रमण हटवाने, स्ट्रीट लाईट लगवाने, वार्डों में पर्याप्त बैंचों की व्यवस्था करने तथा सामुदायिक केन्द्रों में अवैध तरीके से रह रहे लोगों को हटाने के मामले रखे।
    इस मौके पर मेयर मधु आजाद के साथ सीनियर डिप्टी मेयर प्रमिला गजेसिंह कबलाना, निगम पार्षद आरएस राठी, संजय प्रधान, धर्मबीर, योगेन्द्र सारवान, कुलदीप बोहरा, अश्विनी शर्मा एवं सीमा पाहुजा, अनिल यादव, नीरज यादव, नगर निगम गुरूग्राम की अतिरिक्त आयुक्त जसप्रीत कौर, संयुक्त आयुक्त जितेन्द्र कुमार एवं हरीओम अत्री, चीफ इंजीनियर रमन शर्मा, एसई राधेश्याम शर्मा, कार्यकारी अभियंता तुषार यादव, अमरजीत बिस्ला एवं धर्मबीर मलिक सहित सफाई विंग, विज्ञापन विंग, अतिक्रमण विंग एवं डिवलपमैंट विंग के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments