केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह गुरूग्राम के विकास के प्रति गंभीर-मेयर मधु आजाद

 केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह गुरूग्राम के विकास के प्रति गंभीर-मेयर मधु आजाद

-    मेयर मधु आजाद ने जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की
     वीडियो कांफैंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में केन्द्रीय मंत्री को निगम क्षेत्र
     में चल रहे विकास कार्यों के बारे में दी जानकारी
-    बैठक में नगर निगम गुरूग्राम के आयुक्त विनय प्रताप सिंह तथा उपायुक्त  अमित खत्री सहित जिला के अधिकारियों ने वीडियो कांफैंसिंग के माध्यम से लिया हिस्सा



गुरूग्राम, 15 दिसम्बर। गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री एवं गुरूग्राम के सांसद राव इन्द्रजीत सिंह गुरूग्राम के विकास के प्रति काफी गंभीर हैं। वे समय-समय पर गुरूग्राम के अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ रूबरू होकर विकास परियोजनाओं की समीक्षा करते रहते हैं।

मंगलवार को केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह ने जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में वीडियो कांफैंसिंग के माध्यम से गुरूग्राम के विकास बारे अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए तथा विभिन्न विकास योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। बैठक में केन्द्र द्वारा संचालित परियोजनाओं में नगर निगम गुरूग्राम से संबंधित प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी, स्वच्छ भारत मिशन-शहरी तथा अटल मिशन कायाकल्प और शहरी परिवर्तन योजनाओं की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान निगम अधिकारियों ने इन योजनाओं की प्रगति के बारे में केन्द्रीय मंत्री को अवगत करवाया। बैठक में गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद, नगर निगम गुरूग्राम के आयुक्त विनय प्रताप सिंह तथा उपायुक्त अमित खत्री सहित जिला के अधिकारियों ने वीडियो कांफैंसिंग के माध्यम से हिस्सा लिया।

बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी पर चर्चा करते हुए बताया गया कि इस योजना का क्रियान्वयन जून 2015 में किया गया था। इसके तहत वर्ष 2016 में हरियाणा सरकार द्वारा हरियाणा के सभी जिलों में याशी कंसलटिंग एजेंसी के माध्यम से एक डिमांड सर्वे करवाया गया था। इस डिमांड सर्वे में नगर निगम गुरूग्राम क्षेत्र में कुल 23570 आवेदन प्राप्त हुए थे, जिनकी डीपीआर केन्द्र सरकार को भेजी गई थी। उन्होंने बताया कि बीएलसी-एनएंडई योजना के तहत 537 व्यक्तियों ने आवेदन किए थे, जिनमें से 462 का निरीक्षण उपरान्त पात्र पाए गए 87 परिवारों में से 59 परिवारों को पहली किस्त तथा 36 परिवारों को दूसरी किस्त जारी की जा चुकी है, जिसकी कुल राशि 82.20 लाख रूपए है। इसके अलावा, 28 प्रार्थियों को प्रथम किस्त देने बारे समस्त आवश्यक दस्तावेज प्राप्त कर लिए गए हैं तथा 20 जनवरी से पूर्व प्रथम किस्त प्रदान कर दी जाएगी।

स्वच्छ भारत मिशन-शहरी की समीक्षा के दौरान बताया गया कि नगर निगम गुरूग्राम अपने शहर को साफ व स्वच्छ रखने हेतु निरंतर प्रयासरत है। नगर निगम गुरूग्राम द्वारा सभी 35 वार्डों में प्रत्येक घर, संस्थान व व्यवसायिक क्षेत्रों से प्रतिदिन कचरा उठाया जा रहा है। शहर की मुख्य सडक़ों व व्यवसायिक स्थानों की सफाई के लिए 9 स्वीपिंग मशीनों का प्रयोग किया जा रहा है, जिससे धूल नहीं उड़ती तथा पर्यावरण प्रदूषण नहीं होता। नगर निगम गुरूग्राम द्वारा 12 एजेंसियों को सूचीबद्ध किया गया है, जो बल्क वेस्ट जनरेटरों को उनके परिसर के अंदर ही कचरे का निस्तारण करने में मदद करती हैं। इससे बंधवाड़ी प्लांट पर जाने वाले कचरे की मात्रा कम हो जाती है। स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 की तैयारियों में शहर के सभी रिहायशी क्षेत्रों में सडक़ों की सफाई को दिन में एक बार सुनिश्चित किया गया है तथा सार्वजनिक एवं व्यवसायिक स्थानों पर दिन में दो बार सफाई की जा रही है। बैठक में बताया गया कि स्वच्छता एप सहित अन्य माध्यमों से प्राप्त होने वाली शिकायतों को समयानुसार दूर किया जा रहा है। प्लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध लगाकर, नियमों का उल्लंघन करने वालों के चालान किए जा रहे हैं तथा प्लास्टिक का उपयोग सडक़ निर्माण में किया जा रहा है। सीएंडडी वेस्ट के लिए नोटिफिकेशन जारी करके नियमों का उल्लंघन करने वालों का चालान किया जा रहा है। सीएंडडी वेस्ट के प्रसंस्करण के लिए बसई में लगा हुआ प्लांट पूरी तरह से कार्यरत है। आम जनता के लिए 15 स्थानों का चयन कर वहां सीएंडडी वेस्ट डालने का प्रावधान किया गया है।

अटल मिशन कायाकल्प और शहरी परिवर्तन (अमरूत) योजना के बारे में बताया गया कि इस योजना के तहत नगर निगम गुरूग्राम द्वारा 6 स्थानोंं नामत: गाडौली कलां, सराय अलावर्दी,  दरबारीपुर, बालियावास, मोहम्मदपुर झाड़सा तथा बंधवाड़ी में सीवरेट ट्रीटमैंंट प्लांटों का निर्माण किया जा रहा है। इनके निर्माण पर 25 करोड़ रूपए की लागत आएगी।

Post a Comment

0 Comments