गुरूग्राम में स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 की तैयारियां जोरों पर



-    नगर निगम गुरूग्राम के संयुक्त आयुक्त (स्वच्छ भारत मिशन) धीरज कुमार कर रहे डोर-टू-डोर कचरा कलैक्शन प्रणाली को और अधिक दुरूस्त

गुरूग्राम, 5 जनवरी। नगर निगम गुरूग्राम के संयुक्त आयुक्त (स्वच्छ भारत मिशन) धीरज कुमार ने कहा कि किसी भी शहर की स्वच्छता के लिए डोर-टू-डोर कचरा कलैक्शन प्रणाली का बेहतर होना अति आवश्यक है।

    उक्त बात संयुक्त आयुक्त ने मंगलवार को स्थानीय सैक्टर-29 में जोन-3 क्षेत्र में डोर-टू-डोर कचरा कलैक्शन के लिए तैनात गाडिय़ों की परेड एवं निरीक्षण के दौरान कही। नगर निगम गुरूग्राम की स्वच्छता शाखा की टीम ने जोन-3 क्षेत्र में लगी गाडिय़ों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान गाडिय़ों में जीपीएस एवं पब्लिक एड्रैस सिस्टम की जांच की गई। इस मौके पर नगर निगम गुरूग्राम के वरिष्ठ सफाई निरीक्षक ऋषि मलिक, सफाई निरीक्षक मनोज, स्वच्छता सलाहकार डा. हरभजन सिंह, अनिल मेहता, इकोग्रीन से शुवेंदु एवं आईटी टीम के सदस्य उपस्थित थे।

संयुक्त आयुक्त ने डोर-टू-डोर कचरा कलैक्शन कार्य में तैनात कर्मचारियों को कचरा प्रबंधन के निर्देश दिए तथा कहा कि वे नागरिकों को गीला, सूखा व घरेलू हानिकारक कचरा अलग-अलग करने को कहें। उन्होंने कहा कि गाडिय़ों में अलग-अलग कचरा एकत्रित करने की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए तथा कचरा कलैक्शन का कार्य समयानुसार हो। उन्होंने गुरूग्राम के नागरिकों से भी आह्वान किया कि वे कचरे को अलग-अलग करें तथा अपने घर के साथ-साथ आसपास के क्षेत्र की सफाई व्यवस्था को बनाए रखने में सहयोग करें। सिंगल यूज प्लास्टिक एवं पॉलीथीन का पयोग बिलकुल ना करें। इस प्रकार हम सभी के संयुक्त प्रयासों से हम गुरूग्राम को स्वच्छता रैंकिंग के प्रथम पायदान पर लाने में सफल होंगे।

Post a Comment

0 Comments