भाजपा सरकार राव इंद्रजीत सिंह से तो महत्व भी मिलना चाहिए :माईकल सैनी



भाजपा सरकार राव इंद्रजीत सिंह से तो महत्व भी मिलना चाहिए :माईकल सैनी 

एक जनसमूह को संबोधित करते हुए सांसद राव इंद्रजीत सिंह जी ने कहा कि वर्तमान हरियाणा सरकार उनकी वजह से ही बनी है  अर्थात इसे बनाने में राव साहब का भारी योगदान रहा है  उस हिसाब से उन्हें महत्व मिलना भी चाहिए - इसका अर्थ है कि उन्हें महत्व नहीं मिल पा रहा है , अब वह माँग कर रहे थे या बता रहे थे  यह विचारणीय विषय है ,

फ़िलहाल वह गाँव शिकोहपुर में राव अभय सिंह जी की स्वर्गीय माता नंदकोर जी की मूर्ति का अनावरण करने पहुंचे थे  वहीं पर उपस्थित जनसमूह में उन्होंने कहा कि चारों तरफ किसान आंदोलन हो रहे हैं मगर उनके समझ में नहीं आ रहा है कि उसका परिणाम क्या निकलेगा अर्थात दूरदर्शिता का अभाव प्रकट करते हुए कह रहे थे कि हमें जैसे दुनियां चल रही है उसी प्रकार मोदी जी पर यकीन करते हुए उनके साथ ही चलना चाहिए  मतलब कि सत्ता के साथ ही चलना है  क्षेत्र के किसानों का क्या हित-अहित है , उनको क्या फल मिलेगा इससे उन्हें कोई सरोकार नहीं !

उन्होंने बताया कि मानेसर नगर निगम के गठन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है ,जिसपर स्थानीय नागरिकों की चिंताओं मे उनसे हाउसटैक्स वसूली होगी - के जवाब में उन्होंने कहा कि दिल्ली में ग्रामीणों से हाउसटैक्स नहीं लिया जाता है , उनकी ऐसी ही इच्छा गुरुग्राम नगर निगम बनते समय भी थी  मगर टैक्स तो लिया जा रहा है  उन्हें कुछ ऐसा ही प्रयास मानेसर नगर निगम में शामिल होने वाले गांवों के लिए भी करना है !

केंद्रीय मंत्री जी ने गांव शिकोहपुर स्तिथ कृषि विज्ञान केंद्र जो उनके स्वर्गीय पिता राव विरेंद्र सिंह जी ने केंद्रीय कृषिमंत्री पद पर रहते हुए बनवाया था  जिसका लाभ स्थानीय लोगों को मिलना चाहिए था मगर ईस जमीन पर अनुसूचित जाति के लोगों ने कॉलोनी बसा ली है  जिसका जिक्र उन्होंने मोजूदा केंद्रीय कृषिमंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से किया मगर कोई समाधान नहीं निकल पाया ,  

विचारणीय विषय यह है कि  वह दोबारा मिलेंगे और समाधन कराने का प्रयास करेंगे ,जिसका हल निकालने के बाद ही कृषिविज्ञान केंद्र की उपयोगिता को लेकर योजना बनाई जाएगी मतलब कब पता नहीं की तर्ज पर ही गांव शिकोहपुर की सड़क जो राष्ट्रीय राजमार्ग 48 से जोड़ने के स्थान पर फुटओवर ब्रिज बन जाएगा का आश्वासन दिया गया उनके द्वारा  परन्तु यह बताना भूल गए कि उनके पिता कितने वर्षों पूर्व मंत्री थे और वह कितने वर्षों से सांसद हैं मगर क्षेत्र के लोगों के लिए अपनी उपयोगिता सिद्ध नहीं कर पाए  क्योंकि कैसे दिखानी चाहिए इन्हें मालूम ही नहीं ।

कोरोना महामारी की चपेट में दुनिया की इकनॉमी डूब गई मगर हमारे देश के किसानों ने देश की जीडीपी को देश के किसान ने अपने लेवल से नीचे नहीं गिरने दिया भले ही मोदी जी के द्वारा लागू तालाबंदी से सारे कारोबार तबाह हो गए हों , अब टिका ले आए हैं मोदी जी जीवन फिर से जिओ टिका लगवाओ और पुनः काम पर जुट जाओ का संदेश तो देकर चले गए सांसद महोदय मगर  किसानों के आंदोलन में आपकी कोई उपयोगिता हो सकती थी अथवा नहीं अपनी उस महत्वपूर्ण योजना का महत्व नहीं समझाकर गए क्यों ? 

3 प्रतिशत प्लस में जीडीपी रखने के कारण किसान आंदोलन से दूरी बनाए हुए हैं क्या और आखिर वजह क्या है मोदी जी पर विश्वास करने की ? 

महत्व अधिक दे दिया या मिलना चाहिए कि तर्ज पर मिलने की उम्मीद अधिक है आपको उस महत्व की ? 

दक्षिण हरियाणा के किसानों को रोके रखकर उन्हें किसानों से विमुख रखने व निंदा का पात्र बनाने की मंशा क्या रही ?  

तरविंदर सैनी (माईकल) विधानसभा उम्मीदवार गुरुग्राम के मतानुसार दक्षिणी हरियाणा के कृषकों के साथ आम लोगों को गरीब ,शोषितों, मजदूर व श्रमिकों को सभी संगठनों को किसान आंदोलन में अपनी अपनी भूमिका सुनिश्चित करनी चाहिए और ईस आंदोलन में बढ़-चढ़कर भाग लेना चाहिए - नहीं तो आने वाले भविष्य में जब कभी ईस क्षेत्र के किसानों पर कोई विपदा ( संकट) की घड़ी आएगी तो कोई साथी बनने को तैयार नहीं होगा क्योंकि ईस ऐतिहासिक किसान आंदोलन में आपके असहयोग से कलंक का टीका जरूर लग जाएगा और फिर आपके हितों के लिए लड़ने के लिए भी लोग ऐसा ही व्यवहार करेंगे जैसा कि आप लोग आज आचरण कर रहे हैं , क्षमा करना मगर जिस आदमी को कुछ मालूम ही नहीं और इतने वर्षों से वह केवल महत्ब की ही मांग करता रहे तो ऐसे जनप्रतिनिधियों से भी दूरी बना लेनी चाहिए और समय की मांग को समझकर अपने बुद्धिविवेक का परिचय देते हुए किसानो आम नागरिकों व देश के संविधान की रक्षा करने हेतु स्वम उठ खड़े हो जाना चाहिए ।

Post a Comment

0 Comments