राजकीय महाविद्यालय महेन्द्रगढ़ में वार्षिक विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन किया गया

 महेन्द्रगढ़ : प्रमोद बेवल 



राजकीय महाविद्यालय महेन्द्रगढ़ में वार्षिक विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन किया गया । इस प्रदर्शनी में विभिन्न विभागों के 70 विद्यार्थियों ने 26 माडल प्रस्तुत कर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया । इसका मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों में नवीन कोरोना वायरस की जानकारी, उसके प्रभाव व वैक्सीन के नवीन प्रयोग तथा साथ में प्रकृति पर पड़ने वाले कुप्रभावों की जानकारी देना था ।

महाविद्यालय के सेवानिवृत वरिष्ठ पुस्कालयाध्यक्ष सुभाष चन्द डागर व महाविद्यालय के प्राचार्य मेजर एम.आर. लाम्बा ने बतौर मुख्य अतिथि मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारम्भ किया । उन्होंने विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मानव जीवन में विज्ञान की अति महत्ता है और इस तरह की प्रदर्शनी भविष्य के नये वैज्ञानिक व शोधकर्ता तैयार करती है। हमारी युवा शक्ति विज्ञान के क्षेत्र में सही दिशा में कार्य कर रही है । उन्होंने विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन किया और कहा कि इन सभी माडल्स को यदि धरातल पर विज्ञान व प्रकृति को तालमेल के साथ विकास के सही रास्ते पर लाया जा सकता है जो आज की आवश्यकता है । उन्होंने प्राचार्य मेजर एम.आर. लाम्बा व सभी स्टाफ सदस्यों सहित विद्यार्थियों का इस सुन्दर व वैज्ञानिक दृष्टिकोण प्रदर्शित करने के लिए धन्यवाद किया ।

मेजर लाम्बा ने सभी प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन किया तथा भविष्य में भी इस तरह के आयोजन करवाने का आश्वासन दिया ताकि अधिक से अधिक विद्यार्थियों की भागीदारी सुनिश्चित की जा सके । उन्होंने कहा कि भारत का स्वर्णिम भविष्य तय है क्योंकि हमारी युवा पीढ़ी विज्ञान के क्षेत्र में सही कार्य कर प्राकृतिक संतुलन के साथ सामंजस्य रखकर कार्य कर रही है जो उनके माडलों में प्रदर्शित हो रहा है। उन्होंने विद्यार्थियों व इस प्रदर्शनी में प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से दिए गए सहयोग के लिए सभी स्टाफ सदस्यों का धन्यवाद किया।

कार्यक्रम के संयोजक डा. मक्खन सिंह ने बताया कि इस प्रकार के आयोजन से विद्यार्थियों के नये विचारों को प्रस्तुत करने का अवसर मिलता है ।

कार्यक्रम में प्रो. जितेन्द्र कुमार, प्रो. हीरासिंह एवं प्रो. अजयपाल ने निर्णायक मंडल की भूमिका निभाई । इस प्रतियोगिता में हर्बल सैनिटाईजर, लाईट फैडिलिटी व कोविड-19 सैपेरेशन माॅडल प्रथम स्थान पर रहे वहीं मानव शरीर पर कोरोना के प्रभाव एवं एकीकृत चिकित्सा के साथ कोरोना माॅडल द्वितीय स्थान पर रहे। सह-संयोजक प्रो. जितेन्द्र कुमार ने बताया कि आज की प्रदर्शनी में विषयवार प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को 29 जनवरी को राजकीय महाविद्यालय, बावल में आयोजित होने वाली अन्तर-जिला विज्ञान प्रदर्शनी में भाग लेने का मौका मिलेगा ।


इस अवसर पर डा. मुकेश कुमार, डा. लक्ष्मीनारायण यादव, डा. महेश सिंह, डा. बलजीत सिंह, डा. शमशेर सिंह, प्रो. पूजा शर्मा, डा. संदीप कुमार, डा. मंजू कुमारी, विकास गुप्ता, डा. अशोक कुमार, डा. अश्वनी यादव, अरूण भारत, ईश्वर, इन्द्रजीत, गोबिन्दराम, विजयपाल, विकास, दयाराम सहित महाविद्यालय का समस्त स्टाफ उपस्थित था ।

Post a Comment

0 Comments