ट्रांसफॉर्मिंग सदर बाजार अभियान के तहत 26 फरवरी से एक सप्ताह का कार्यक्रम होगा शुरू

 ट्रांसफॉर्मिंग सदर बाजार अभियान के तहत 26 फरवरी से एक सप्ताह का कार्यक्रम होगा शुरू


गुरूग्राम, टीम अजेयभारत। भारत सरकार के आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर भागीदारों के साथ शुरू की गई स्ट्रीट्स फॉर पीपल चैलेंज के तहत नगर निगम गुरूग्राम विभिन्न गतिविधियां आयोजित कर रहा है। इसी कड़ी में स्थानीय सदर बाजार, जो कि एक ऐसी मार्केट है, जहां पैदल चलने वाले लोग अधिक होते हैं।
    नगर निगम गुरूग्राम की अतिरिक्त आयुक्त जसप्रीत कौर के अनुसार स्ट्रीट फॉर पीपल पहल के एक हिस्से के रूम में नगर निगम गुरूग्राम शहर की सडक़ों को चलने योग्य बनाने के लिए जीवंतता पर ध्यान केन्द्रित करने के साथ त्वरित, अभिनव एवं कम लागत वाले हस्तक्षेपों को लागू कर रहा है। इसके तहत 26 फरवरी से सदर बाजार व इसके पड़ोस में एक स्कूल जोन में एक सप्ताह के लिए पैदल यात्रा परीक्षण का आयोजन किया जा रहा है। इसका मतलब स्कूल जोन के साथ-साथ 600 मीटर बाजार की गली में मोटर गाडिय़ों का चलना बन्द रहेगा। अस्थाई हस्तक्षेप के साथ सडक़ों पर सभी आयु समूहों और पृष्ठभूमि के लिए एक समावेशी अनुभव को सक्षम करने वाले पैदल यात्रियों की एक बड़ी संख्या का स्वागत किया जाएगा। क्षेत्र का परिवर्तन प्रत्येक हितधारक के लिए, आगंतुकों व दुकानदारों व नागरिकों के लिए फायदेमंद होगा, जिनके लिए बाजार एक कार्यस्थल है। विशेष रूप से यातायात प्रबंधन, सार्वजनिक स्थान डिजाईन और एंगेजमैंट गतिविधियों द्वारा बाजार और उसके पड़ोस में सार्वजनिक सुविधा प्रदान करने पर ध्यान होगा। सप्ताह भर चलने वाले इस कार्यक्रम का आयोजन नगर निगम गुरूग्राम और ट्रैफिक पुलिस गुरूग्राम द्वारा डब्लयूआरआई इंडिया व राहगिरी फाऊंडेशन के साथ मिलकर किया जाएगा। इसके लिए सिटी सभा, डेसरिया एसोसिएट्स, सहरती डवलपमैंट प्रैक्टिस फाऊंडेशन तथा स्टूडियो अर्थवॉर्म भी सहयोग करेंगे। बाजार के उपयोगकर्ता स्ट्रीट थिएटर, सामुदायिक प्रदर्शनी जैसी विभिन्न गतिविधियों और स्थानीय कला का अनुभव कर सकते हैं। इसमें स्थानीय इतिहास, स्थानीय कहानियां, पारंपरिक  चौपाल, गीत, नृत्य, स्ट्रीट आर्ट, खरीददारी, खाने, घूमने, साइकिल चलाने, स्ट्रीट खेल, वर्कआऊट, फ्लैश मॉब, सडक़ सुरक्षा जागरूकता, महिला सुरक्षा जागरूकता, स्वच्छता जागरूकता आदि गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। 26 फरवरी को सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक राहगिरी डे भी होगा। जनता को सडक़ के अनुभव के लिए अपने शहर की पहल में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है। बाजार के उपयोगकर्ता, विशेषकर बच्चों, बजुर्गों एवं दिव्यांगों के आरामदायक उपयोग और आवागमन के लिए उपयुक्त व्यवस्था होगी।

Post a Comment

0 Comments